What is Cryptocurrency | क्रिप्टोकरेंसी क्या है 2022

Cryptocurrency क्रिप्टोकरेंसी के बारें में पूरी जानकारी हिन्दी में।

आप के मन में जो क्रिप्टोकरेंसी या क्रिप्टो के बारे मे काफी सारे सवाल हो सकते है जैसे What is Cryptocurrency। इस ब्लाग के माध्यम से आपके उन सारे सवालों के जवाब हम इस क्रिप्टो ब्लाग सीरीज के माध्यम से करेंगे। इसी के साथ साथ आपको क्रिप्टो के बारे मे अपडेट भी देते रहेंगे। आप के मन मी शायद नीचे दिए हुये सवाल हो सकते है…

  • What is Blockchain / ब्लॉकचैन क्या है?
  • What is a cryptocurrency / क्रिप्टोकरेंसी क्या है?
  • How cryptocurrency works / क्रिप्टोकरेंसी कैसे कार्य करती है?
  • The Future of cryptocurrency / क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य
  • History of Cryptocurrency / क्रिप्टोकरेंसी का इतिहास
  • Famous Cryptocurrencies / प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी

उपर दिए हुये सवाल तो होंगे ही, लेकिन इसके अलावा भी काफी जानकारी आपके लिये इस ब्लॉग में उपलब्ध है। what is a digital currency in Hindi / डिजिटल करेंसी क्या है हिंदी में पढें। आइए पहले सवाल Krypto currency kya hai, क्रिप्टोकरेंसी क्या है देखते है।

वेबस्टोरी देखने के लिये क्लिक करें

What is Cryptocurrency | क्रिप्टोकरेंसी क्या है?

क्रिप्टोकरेंसी, क्रिप्टो-मुद्रा, क्रिप्टो, या क्वाइन एक डिजिटल मुद्रा है जिसे कंप्यूटर नेटवर्क के जरिए लें-देन अथवा एक्सचेंज का एक माध्यम या एक रूप बनाकर काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। इसे बनाए रखने या उपयोग में लाने के लिए किसी भी केंद्रीय प्राधिकरण, जैसे सरकार या बैंक पर निर्भर रहना जरुरी नहीं है। इसे ब्लॉकचेन पर आधारित विशेष नेटवर्क के जरिए प्रयोग में लाया जाता है।

आसानी से समझने के लिये इसे आप डिजिटल करन्सी भी कह सकते हो। डॉलर या रुपयों के जैसे इसके जरिए आप वस्तू या सेवा खरीद सकते है। आज जैसे आप वॉलेट या पेमेंट अप्लीकेशन के जरिए जैसे लेन-देन करते है वैसे ही इसका भी उपयोग किया जाता है।

आपके इकठ्ठे किए गए Coin या सिक्कों के मालिकाना हक को बनाए रखने के लिये एक डिजिटल लेजर में उसे स्टोअर किया जाता है। सिक्कों के निर्माण को नियंत्रण में रखने तथा मालिकाना हक को सत्यापित करने के लिये यह लेजर क्रिप्टोग्राफी (cryptography) (गुप्त लेखन पद्धती) के द्वारा मजबूत तरीके से सुरक्षित रखा जाता है।

एक महत्वपूर्ण बात, क्रिप्टोकरेंसी डॉलर या रुपयों के जैसे कागजी चलन का माध्यम नहीं है। इसे पारंपरिक मुद्रा में शामिल नहीं किया जाता लेकिन इसे अलग वर्गीकरण करते हुये देखा जाता है जैसे, कमोडिटी (वस्तू), सिक्युरिटीज (संरक्षक), करन्सी (मुद्रा) इत्यादी।

असल में क्रिप्टोकरेंसी को एक अलग तरह की संपती या निवेश के तौर पर देखा जाता है।

What is Blockchain | ब्लॉकचैन क्या है?

Jagruti Manch What is Cryptocurrency | क्रिप्टोकरेंसी क्या है 2022 Block Chain
Block Chain – What is Cryptocurrency

ब्लॉकचेन के माध्यम से प्रत्येक क्रिप्टोकरेंसी के सिक्कों को वैधता प्रदान की जाती है। ब्लॉकचेन एक रिकॉर्ड की लगातार बढ़ती जाने वाली (List) सूची है, जिसे ब्लॉक कहा जाता है, जो क्रिप्टोग्राफी का उपयोग करके सुरक्षित और इन रेकॉर्ड को जोड़े हुये रखते हैं।

प्रत्येक ब्लॉक में आमतौर पर एक हैश पॉइंटर होता है जो पिछले ब्लॉक, टाइमस्टैम्प और लेनदेन डेटा को जोड़े हुये (Link/लिंक) रखता है । ब्लॉकचेन के डिजाइन के अनुसार, डेटा के संशोधन के लिए यह स्वाभाविक रूप से विरोध करता हैं, मतलब यह डेटा को सहजता से बदलने नहीं देता। यह एक खुला (Open), विस्तृत (distributed) खाता बही (ledger) है जो लेनदेन करनेवाले दो पक्षों के बीच कुशलतापूर्वक और सत्यापन योग्य और स्थायी तरीके से रिकॉर्ड कर सकता है।

ब्लॉकचैन की खासियत

  • ब्लॉकचैन एक डिजिटल लेजर है।
  • ब्लॉकचैन को एक पीयर-टू-पीयर नेटवर्क द्वारा प्रबंधित किया जाता है।
  • यह लेजर नए ब्लॉकों को मान्य करने के लिए एक प्रोटोकॉल का पालन करता है।
  • एक बार रिकॉर्ड करने के बाद, किसी भी ब्लॉक में डेटा को बाद के सभी ब्लॉकों के परिवर्तन के बिना पूर्वव्यापी रूप से बदला नहीं जा सकता है।
  • ब्लॉकचैन इसके डिजाइन द्वारा सुरक्षित हैं।
  • ब्लॉकचैन के साथ विकेंद्रीकृत आम सहमति हासिल की गई है।
  • ब्लॉकचैन बीजान्टिन दोष सहिष्णुता (Byzantine fault tolerance) के साथ एक वितरित कंप्यूटिंग सिस्टम का एक उदाहरण हैं।
  • ब्लॉकचैन के कारण ट्रैन्जैक्शन बहुत फास्ट स्पीड के साथ होता है।
  • ब्लॉकचैन को हैक करना बहुत मुश्किल है।

नोड क्या है | What is Node?

क्रिप्टोकरेंसी नेटवर्क से जुड़ने वाला एक कंप्यूटर को नोड कहते है। नोड क्रिप्टोकरेंसी नेटवर्क को जोड़ता तो है लेकिन साथ में ट्रैन्जैक्शन का चलन करना, सत्यापन करना तथा ब्लॉकचैन की कॉपी का होस्टिंग (hosting) करता है।

नोड (ओनर्स) मालिक वे लोग होते है जो होस्टिंग नोड नेटवर्क के मेजबान होते है जिन्हे ब्लॉकचैन की मेजबानी करने के लिये उन्हे आकर्षक रिवार्ड मिलते है, या तो कुछ वॉलेंटीयर्स होते है या, क्रिप्टोकरेंसी ब्लॉकचेन नेटवर्क तकनीक विकसित करने के लिए जिम्मेदार व्यक्ती या बॉडी होते है।

How cryptocurrency works | क्रिप्टोकरेंसी कैसे कार्य करती है?

क्रिप्टोकरेंसी जो सरकार या केंद्रीय नियामक प्राधिकरणों के नियंत्रण कक्षा से बाहर है, गवर्नमेंट के द्वारा नियंत्रण नहीं किया जाता है। बैंकों की सिस्टम से बाहर एक कन्सेप्ट या अवधारणा के रूप में, क्रिप्टोकरेंसी विभिन्न ब्रांडों या सिक्कों या कॉइन के विभिन्न प्रकार का उपयोग करते हुये यह काम करती है।

Mining – माइनिंग क्या है?

Jagruti Manch What is Cryptocurrency | क्रिप्टोकरेंसी क्या है 2022 cryptocurrency 6560735 640
Credit Pixabay

क्रिप्टोकरेंसी के coins या करन्सी जो पूरी तरह से डिजिटल करन्सी होने के कारण इसे उत्पन्न (जनरेट) किया जाता है, इस प्रक्रिया को माइनिंग कहते है। माइनिंग करने वालों को विशेष रूप से सुसज्जित कंप्यूटर सिस्टम पर कुछ गणितीय पहेलियों को हल करने की आवश्यकता होती है। इन पहेलियों को सुलझाने के बदले में उन्हे बिटकॉइन जैसे coins क्वाइन से पुरस्कृत किया जाता है।

माइनिंग करने की प्रोसेस वैसे तो १० मिनिट की मानी जाती है लेकिन इसे पुरा होने के लिये ३० दिन का भी समय लग सकता है।

Cryptocurrency Buying, Selling Storing

क्रिप्टोकरेंसी खरीदना, बेचना, संग्रहण करना

क्रिप्टोकरेंसी central exchanges, brokers, and individual currency owners मतलब केंद्रीय एक्सचेंजों, दलालों और व्यक्तिगत मुद्रा मालिकों के द्वारा खरीदा या बेचा जा सकता है। आज मोबाईल फोन के अप्लीकेशन के माध्यम से यह प्रक्रिया आसान हुआ है।

खरीदने के बाद क्रिप्टोकरेंसी को डिजिटल वॉलेट में स्टोर किया जाता है। डिजिटल वॉलेट दो प्रकार के है जैसे की “हॉट” या “कोल्ड”। इंटरनेट से जुड़ा वॉलेट हॉट होता है, इससे लेन-देन करना आसान हो जाता है। हॉट वॉलेट में चोरी और धोखाधड़ी की समस्या हो सकती है। कोल्ड स्टोरेज एक सुरक्षित विकल्प है, लेकिन इससे करेंसी का लेन-देन करना कठिन हो जाता है।

History of Cryptocurrency | क्रिप्टोकरेंसी का इतिहास

अमेरिकी क्रिप्टोग्राफर डेविड चाउम ने 1983 में ईकैश नामक एक बेनामी क्रिप्टोग्राफ़िक इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा “ईकैश” की कल्पना की थी। 1995 में, उन्होंने इसका नाम डिजीकैश रखकर इसे लागू किया, यह क्रिप्टोग्राफिक इलेक्ट्रॉनिक भुगतान का एक प्रारंभिक रूप माना जाता है। डिजिकैश को किसी बैंक से करेंसी नोट निकालने और प्राप्तकर्ता को भेजे जाने से पहले विशिष्ट एन्क्रिप्टेड कुंजियों को चिन्हित करने के लिए एक उपयोगकर्ता सॉफ़्टवेयर की आवश्यकता होती है। इस के कारण जारीकर्ता बैंक या सरकार या किसी तीसरे पक्ष द्वारा डिजिटल मुद्रा को पूरी तरह से गुप्त रख दिया।

वेई दाई (Wei Dai) ने, 1998 में, “बी-मनी” (b-money) का एक विवरण प्रकाशित किया, जिसे एक अनमिक, वितरित इलेक्ट्रॉनिक कैश सिस्टम के रूप में डिझाईन किया गया था। इसके तुरंत बाद, निक स्ज़ाबो (Nick Szabo) ने बिट गोल्ड (bit gold) का वर्णन किया। बिटकॉइन (BitCoin) और अन्य क्रिप्टोकरेंसी की तरह, एक इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा प्रणाली के रूप में जारी किया गया था।

2009 में, पहला विकेन्द्रीकृत (decentralised) क्रिप्टोकरेंसी, (Bitcoin) बिटकॉइन, एक गुप्त नाम से काम करनेवाले डेवलपर सतोशी नाकामोटो (Satoshi Nakamoto) द्वारा बनाया गया था। इसने अपनी प्रूफ-ऑफ-वर्क स्कीम में SHA-256, एक क्रिप्टोग्राफ़िक हैश फ़ंक्शन का उपयोग किया।
अप्रैल 2011 में, Namecoin को एक विकेन्द्रीकृत DNS बनाने के प्रयास के रूप में बनाया गया था, एसके कारण इंटरनेट सेंसरशिप को बहुत कठिन बना दिया।

इसके तुरंत बाद, अक्टूबर 2011 में, लिटकोइन को जारी किया गया, जो SHA-256 के बजाय अपने हैश फ़ंक्शन के रूप में स्क्रिप्ट (scrypt) का उपयोग करता था। एक अन्य उल्लेखनीय क्रिप्टोकरेंसी, पीअरकोइन (Peercoin), एक प्रूफ-ऑफ-वर्क/प्रूफ-ऑफ-स्टेक हाइब्रिड का उपयोग करती है।

एल साल्वाडोर, यह देश जून 2021 में, बिटकॉइन को कानूनी निविदा के रूप में स्वीकार करने वाला पहला देश बन गया। विधान सभा ने राष्ट्रपति नायब बुकेले (President Nayib Bukele) द्वारा क्रिप्टोकरेंसी को चयन में लने के लिये जब बिल पारित किया तब यह बिल 62 इसके पक्ष में और 22 वोट विरोध होते हुये पारित कर दिया था।

The Future of cryptocurrency | क्रिप्टोकरेंसी का भविष्य

गुप्तता

आज काफी लोग इस क्रिप्टोकरेंसी के दीवाने है। कुछ पलों में होने वाले बड़े वित्तीय ट्रैनजेक्शन के कारण और इसकी गुप्त और सुरक्षित गतिविधियोंके कारण लोग आज इसके बारे में अधिक जानना चाहते है। भारत ने जब २०२१ में क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगाने की सोच रहे थे तभी, २०२२ में भारत सरकार ने इसे कुछ विनियमों के साथ इसे स्वीकार करने की सोच बनाई है। भारत के इस पहल का अलग अलग स्तरों पे स्वागत हो रहा है। इस प्रणाली को हैक करना काफी जटिल और नामुमकिन सा होने के कारण लोग इसे अपना रहे है।

वित्तीय लेन-देन की गती

डिजिटल वर्ल्ड में इंटरनेट ने काफी गती हासिल कर नई ऊंचाई साबित कर दि है। बहुत बड़े और इकठ्ठे किए जाने वाले (bulk transactions) ट्रैनजेक्शन सेकंड और चंद मिनिटों में पूरे हो सकते है। अपनी बैंकिंग प्रणाली में इतनी शीघ्रता से वित्तीय लेन-देन संभव नहीं है, इसके लिये १ से ३ दिन का अवधी लगता है। क्रिप्टोकरेंसी के कारण यही कितने भी बड़ी राशी या कई सारे वित्तीय लेन-देन बिजली की गती से होना संभव है।

शुल्क / फ़ीस

बैंकिंग लेन-देन के मुकाबले जो फीस अदा करनी होती है वह काफी कम है। आप वित्तीय लेन-देन के लिये अलग-अलग क्रिप्टोकरेंसी का चुनाव करने का विकल्प उपयोगकर्ता के पास होता है; यह बैकीग प्रणाली में संभव नहीं है।

5 Famous Cryptocurrencies | प्रसिद्ध क्रिप्टोकरेंसी

क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में काफी नए प्लेयर आ रहे है, और काफी पुराने भी है। उनमें से जो सबसे मशहूर क्रिप्टोकरेंसी है उनकी सूची नीचे दि गई है। यह करेंसी डिमांड के मुताबिक इनमे उच्च-नीच हो सकती है। पाठकों को यह जानकारी कैसे लगी, हमें कमेन्ट बॉक्स में जरुर लिखे।

Famous Cryptocurrencies in the World

  1. Bitcoin
  2. Ethereum
  3. Ripple
  4. Bitcoin Cash
  5. EOS

10 Famous Cryptocurrencies in India

  1. Avalanche (AVAX)
  2. Lucky Block (LBLOCK)
  3. Maker (MKR)
  4. Ethereum (ETH)
  5. Chainlink (LINK)
  6. Uniswap (UNI)
  7. Enjin (ENJ)
  8. Basic Attention Token (BAT)
  9. SOLANA (SOL)
  10. Yearn.finance (YFI)

इस ब्लॉग के जरिए क्रिप्टोकरेंसी की बेसिक जानकारी हम आप तक पहुंचा पाए इसका हमें आनन्द है। इसी विषय में हम ढेर सारी जानकारी आगे भी लेकर आयेंगे। हमारे इस जागृति-मंच ब्लॉग के साथ इसी तरह से जुड़े रहिए।

इसी विषय में या अन्य विषय में जानकारी हासिल करने के लिये आप हमारे टेलीग्राम चैनल पर जुड़े रहने के लिये यहां क्लिक करें

अन्य पढ़ें –

झुंड टीजर के लिये यहां क्लिक करें

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.