International Women’s Day 2022 Messages, Essay, Quotes, Importance in Hindi | अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2022 संदेश, निबंध, भाषण, महत्व

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कब मनाया जाता है? थीम, महत्व, निबंध, भाषण, स्पीच, विषय, स्लोगन व नारे | International Women’s Day2022 in Hindi, Quotes, Slogan, Theme, History, Events, Celebrated on

सबसे पहला महिला दिवस समारोह, सक्रिय कार्यकर्ता थेरेसा मल्कील के सुझाव पर आयोजित किया गया था। 1909 के 28 फरवरी को न्यूयॉर्क शहर में नेशनल वूमन्स डे नामसे इसका आयोजन सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका द्वारा किया गया था। कुछ लोगों का मानना है की दिन 8 मार्च, 1857 को न्यूयॉर्क में जो महिला गारमेंट वर्कर्स द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया था उसकी याद में मनाया जा रहा था।

IWD International Women’s Day अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस सुनने में तो बहुत अच्छा लगता है, परंतु जब इस मुद्दे पर एकांत में विचार किया जाए, तो मन में एक सवाल जन्म लेता है कि आखिर ऐसी क्या दिक्कत थी, जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर महिलाओं को सम्मान देने के लिए एक दिन की घोषणा करनी पड़ी?? क्या इसका उद्देश्य शुरुआत से ही केवल महिलाओं को सम्मान देना था, या उन्होने अपनी परेशानियों से तंग आकार आक्रोश में इस दिन को मनाना शुरू किया।

क्या भारत की ही तरह संपूर्ण विश्व में भी महिलाओं को अपने अधिकार अपने सम्मान को पाने के लिए चुनोतियों का सामना करना पड़ा। आज हम अपने इस आर्टिकल से आपके इन सवालों का जवाब देने और अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के संबंध में संपूर्ण जानकारी देने का प्रयत्न कर रहे है, उम्मीद करते है कि यह आपके लिए उपयोगी होगा.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस | International Women’s Day in Hindi

इस दिन की खासियत तथ्य
दिवस का नामअंतरराष्ट्रीय महिला दिवस / International Women’s Day
कॅलेंडर के मुताबिक दिन 8 मार्च
कब से शुरुआत हुईसन 1911
कहां से शुरुआत हुईन्यूयॉर्क
गिनती मे इस वर्ष कौन सा महिला दिवस है111 वां महिला दिवस
विषय 2022एक स्थायी कल के लिए लैंगिक समानता आज (gender equality today for a sustainable tomorrow)
International Women’s Day

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस थीम (International Women’s Day Theme)

साल 1996 से लगातार महिला दिवस किसी निश्चित थीम के साथ ही मनाया जाता आ रहा है, सर्वप्रथम 1996 में इसकी थीम अतीत का जश्न और भविष्य के लिए योजना है. इसके बाद लगातार हर साथ एक नई थीम और नए उद्देश्य के साथ इसे कई देश एक साथ मनाते आ रहें है. पिछले बीते 10 सालों में महिला दिवस की थीम्स इस प्रकार थी –

सालथीम
2009इस वर्ष की महिला दिवस की थीम महिला व लड़कियों के खिलाफ होने वाले अत्याचारों के विरूध्द महिला व पुरुष एक साथ मिलकर प्रयत्न करें, इस मुद्दे पर विचार किया गया था
2010इस वर्ष महिलाओं को पुरुषो के समान अधिकार और समान अवसर प्रदान कर उनकी तरक्की की और ध्यान केन्द्रित किया गया था
2011इस वर्ष शिक्षा, प्रशिक्षण एवं विज्ञान और प्रोद्योगिकी आदि क्षेत्रों में महिलाओं को समान अधिकार देकर इन क्षेत्रों में इनकी तरक्की  का मार्ग खोला गया था
2012इस वर्ष गाँव की महिलाओं को समान अवसर देकर उन्हे सशक्त बनाने का प्रयास किया गया था, साथ ही गरीबी और भुखमरी जैसी समस्या पर भी ध्यान केन्द्रित किया गया था
2013इस वर्ष महिलाओं के खिलाफ हिंसा को समाप्त करने के लिए कार्यवाही के समय को निश्चित करने की मांग की गई थी
2014इस वर्ष नारी के लिए समानता और उनकी तरक्की ही इस दिन का विषय था
2015इस वर्ष महिलाओं की तरक्की से समस्त मानव जाती की तरक्की को जोड़ा गया था
2016इस वर्ष आने वाले आगामी 12 सालों में महिला व पुरुष का अनुपात बराबर करने का निर्णय लिया गया था
2017इस वर्ष बदलती दुनिया में महिलाओं की स्थिति के साथ आगामी सालों में लिंग अनुपात को बराबर करने पर ध्यान केन्द्रित किया गया था
2018 इस वर्ष की थीम का उद्देश्य महिलाओं को उनके विकास के लिए प्रोत्साहित करना था
2019थिंक इक्वल, बिल्ड स्मार्ट, इनोवेट फॉर चेंज 
2020ईच फॉर इक्वल (Each For Equal) 
2021महिला नेतृत्व: कोविड-19 की दुनिया में एक समान भविष्य को प्राप्त करना
2022एक स्थायी कल के लिए लैंगिक समानता आज (gender equality today for a sustainable tomorrow)

यह भी पढ़ें

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.